Jal Jeevan Mission:- जैसा कि हम सभी जानते हैं कि जल के बिना हमारा जीवन संभव नहीं है। इसीलिए जल संरक्षण हेतु भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा जल जीवन मिशन की शुरुआत की गई है। Jal Jeevan Mission को ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से भारत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों को पानी की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। 15 अगस्त 2019 को सभी नागरिकों तक पानी की व्यवस्था घर घर उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा जल जीवन मिशन का शुभारंभ किया गया। Jal Jeevan Mission के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के घरों में ही पीने के पानी के लिए जल कनेक्शन लगाए जाएंगे। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के कार्यान्वयन के लिए 360 लाख करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। इस मिशन के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा अलग-अलग बजट दिया जाएगा।


Jal Jeevan Mission Scheme (Rural) Kya Hai ?

15 अगस्त 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जल जीवन मिशन स्कीम को शुरू किया गया है। इस योजना को उन सभी क्षेत्र में पानी पहुंचाने के लिए शुरू किया गया है जहां अभी भी लोगों को पानी की समस्या का सामना करना पड़ता है। देश के लगभग 50% ऐसे ग्रामीण क्षेत्र है। जिन्हें पानी की समस्याओं से जूझना पड़ता है। और उन्हें पानी प्राप्त करने के लिए दूर क्षेत्र में कई मिलो पैदल चलकर जाना पड़ता है। और साथ ही विभिन्न परेशानियों से गुजरा पड़ता है। इन सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए जल जीवन मिशन के तहत केंद्र सरकार द्वारा सभी ग्रामीण नागरिकों तक घर घर पानी की सुविधा उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

Department of Drinking Water and Sanitation के अनुसार 2019 से अब तक 18.33% ग्रामीण परिवारों को पानी का कनेक्शन उपलब्ध कराया गया हैं। कुल मिलाकर 17.87 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से अब तक सरकार द्वारा 3.27 करोड़ परिवारों को पानी की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। सरकार का लक्ष्य सभी ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले परिवारों को 2024 तक पानी की व्यवस्था को पाइप के माध्यम से पहुंचना है। जिसके लिए कई राज्यों द्वारा जल मिशन को आगे बढ़ाने के लिए सहयोग किया जा रहा है। जैसे मात्र 1 रुपए में लोगों के घर उत्तराखंड सरकार द्वारा पानी का कनेक्शन लगाया जा रहा है।

जल जीवन मिशन (ग्रामीण) के बारे में जानकारी

योजना का नामJal Jeevan Mission
शुरू किया गयाप्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
विभागपेयजल और स्वच्छता विभाग जल शक्ति मंत्रालय
लाभार्थीदेश के नागरिक
उद्देश्यसभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की सुविधा उपलब्ध कराना
योजना का बजट360 लाख करोड़ रुपए
लाभघर घर तक पानी की सुविधा उपलब्ध कराना
साल2023
आधिकारिक वेबसाइटhttps://jaljeevanmission.gov.in/

Jal Jeevan Mission का उद्देश्य

जल जीवन मिशन का मुख्य उद्देश्य राज्यों के उन सभी ग्रामीण इलाकों में पानी की सुविधा उपलब्ध करवाना है जहां पानी जैसी समस्याओं से लोगों को गुजरना पड़ता है। इस मिशन के अंतर्गत सभी ग्रामीण परिवारों को पाइप के माध्यम से ताजा एवं स्वच्छ जल की सुविधा प्राप्त हो सकेगी। जिन इलाकों में पानी नहीं है वहां हर घर में पाइप लाइन के माध्यम से पानी पहुंचाया जाएगा सरकार द्वारा इस मिशन को हर घर जल योजना का नाम भी दिया गया है। देश के प्रतीक परिवार को जल जीवन मिशन के माध्यम से नल के पानी से जोड़ने का एक सफल प्रयास है। स्वच्छ भारत अभियान के तहत ग्रामीणों तक पानी पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। इस मिशन के माध्यम से ग्रामीण सेंटर में रहने वाले नागरिकों के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकेगा जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।

जल जीवन मिशन योजना के लिए बजट

जल जीवन मिशन के लिए केंद्र सरकार द्वारा 350 लाख करोड रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। जिसके माध्यम से राज्यों के ग्रामीण क्षेतत्रों में पानी का कनेक्शन प्रदान किया जाएगा। वर्ष 2019 से लेकर 2024 तक अलग-अलग रूप में केंद्र और राज्य सरकार की भागीदारी को निर्धारित किया गया है। इस मिशन के सफलतापूर्वक संचालन के लिए 5 वर्ष की अवधि के रूप में बजट को निम्न रूप से निर्धारित किया गया है जिसकी सूची नीचे दी गई है।

क्रम संख्या  वित्तीय वर्षयोजना में केंद्र सरकार की सहभागिता राज्य सरकार की सहभागिताकुल बजट की राशि 
1.2019-2020 करोड़ 798 लाख रूपए15 करोड़ 202 लाख  36 करोड़ रूपए
2.2020-2134 करोड़ 753 लाख  25 करोड़ 247 लाख  60 करोड़ रूपए  
3.2021-2258 करोड़ 011 लाख रूपए 41 करोड़ 989 लाख 100 करोड़ रूपए
4.2022-2348 करोड़ 708 लाख रूपए35 करोड़ 292 लाख84 हजार करोड़ रूपए
5.2023-2446 करोड़ 382 लाख रूपए33 करोड़ 618 लाख80,000
6.कुल राशि2,08,6521,51,348 3,60,000  

Jal Jeevan Mission की विशेषताएं

  • जल जीवन मिशन की मुख्य विशेषता यह है कि सभी ग्रामीण घरों तक घरेलू नल कनेक्शन की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्यों के उन सभी इलाकों में पानी की सुविधा पहुंचाई जाएगी। जहां पानी की सुविधा उपल्ब्ध नहीं है।
  • स्थानीय जल संस्थाओं के प्रबंधन को बढ़ावा दिया जाएगा। ताकि घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध करवाये जा सके।
  • Jal Jeevan Mission के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल, ग्राम पंचायत भवन, स्वास्थ्य केंद्र तक पानी के कनेक्शन की व्यवस्था कराई जाएगी।
  • ग्रामीण परिवार को नल जल कनेक्शन उपलब्ध करवाने के लिए इस मिशन के माध्यम से पाइपलाइन जल आपूर्ति अवसंरचना का विकास करना है।
  • राज्यों के ग्रामीण परिवार की आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु आवश्यक क्षेत्र में बल्क वाटर ट्रांसफर शोधन सयंत्र और वितरण नेटवर्क को विकसित किया जाएगा।
  • जल एवं स्वस्थ मिशन के तहत स्टेट वॉटर एंड सैनिटाशन मिशन के द्वारा राज्य के जिला क्षेत्र में कार्य किया जाएगा।

जल जीवन मिशन के लाभ

  • जल जीवन मिशन का सबसे अधिक लाभ महिलाओं एवं बालिकाओं को प्राप्त होगा।
  • अब घरों में ही पानी की व्यवस्था उपलब्ध होने से उन्हें पानी लाने के लिए मिलो पैदल नहीं जाना पड़ेगा।
  • ये मिशन महिलाओं के जीवन को आसान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।
  • JJM के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को राहत मिलेगी।
  • केंद्र सरकार द्वारा इस मिशन के लिए 3.60 लाख करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है।
  • इस मिशन के माध्यम से जल संरक्षण को भी बढ़ावा मिलेगा।
  • महिलाएं घर में पानी की सुविधा उपलब्ध होने से अपने काम समय पर कर सकेगी।
  • ग्रामीण क्षेत्र के सार्वजनिक स्थानों पर इस मिशन के माध्यम से जल कनेक्शन लगवाए जाएंगे।
  • आने वाली पीढ़ी को जल की महत्वता समझने के लिए इस मिशन के तहत बच्चों को जल संरक्षण के बारे में भी जागरूक किया जाएगा ताकि वे भविष्य के लिए जल संरक्षण कर सके।
  • Jal Jeevan Mission के माध्यम से गांव में पेयजल के स्रोत के साधन में वृद्धि होगी।
  • केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से 6 करोड़ घरों में पानी पहुंचाया जाएगा।
  • अब तक 18 जिलों के लोगों को इस योजना का लाभ प्रदान किया गया है।
  • 19 करोड़ 17 लाख 20 हजार 832 ग्रामीण परिवारों को घरेलू न कनेक्शन की सुविधा से लाभ प्रदान किया गया है।

Jal Jeevan Mission के तहत फंड आवंटन पात्रता एवं मानदंड

केंद्र सरकार द्वारा जल जीवन योजना के तहत वित्तीय कार्यान्वयन के लिए कुल अनुमानित लागत 3.60 लाख करोड़ रुपए है। जिसके लिए सरकार द्वारा पहाड़ी क्षेत्र के राज्यों के लिए अलग-अलग रूप में केंद्र राज्य के बीच फंड शेयरिंग को निर्धारित किया गया है। जिसके लिए कुछ पात्रता को पूरा करना होगा।

  • जल जीवन मिशन के अंतर्गत उत्तराखंड राज्य के लिए फंड शेयरिंग पैटर्न का 90% भाग केंद्र सरकार का और 10% भाग राज्य सरकार द्वारा देय होगा।
  • हिमाचल प्रदेश सहित उत्तर पूर्वी राज्यों के लिए 100 प्रतिशत फंड केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • अन्य बचे क्षेत्र के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा 50-50 प्रतिशत फंड शेयर किया जाएगा।
  • राज्य के बीच फंड के संवैधानिक आवंटन को लेफ्ट आउट की संख्या को शामिल करके संशोधित किया गया है। 20% वेटेज और 10% वेटेज के साथ अतिरिक्त मानदंड के रूप में घरेलू कनेक्शन ग्रामीण को प्रदान किया जाएगा।
  • उन क्षेत्र में अधिक निधि की अनुमति प्राप्त की जाएगी जहां पानी की गुणवत्ता से प्रभावित जनसंख्या अधिक है।
  • जल जीवन मिशन के तहत उपलब्ध करवाए जाने वाला पानी पीने योग्य होना चाहिए।

जल जीवन मिशन के लाभार्थी राज्यों का विवरण

जल जीवन योजना का लाभ जिन राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रदान किया गया है। उन सभी राज्य द्वारा इस योजना के माध्यम से अधिक से अधिक लाभ ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। इस मिशन में लाभ लेने वाले राज्यों की प्रतिशत वार सूची का विवरण नीचे दिया गया है। इस सूची में आप लाभान्वित ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिशत देख सकते हैं।

राज्य का नाम  जल जीवन मिशन योजना के लाभ का प्रतिशत
बिहार54.38%
कर्नाटक1.40% 
पश्चिम बंगाल 1.44%
लद्दाख2.25%
केरल1.78% 
महाराष्ट्र15.4%  
झारखंड3.36%  
असम3.36%
तेलंगाना69.56%
जम्मू कश्मीर  14.94%
राजस्थान3.69%
हरियाणा  21.12%
मिजोरम  23.19%
गोवा 24.3%
मणिपुर  20.78%
हिमाचल प्रदेश19.99%
उत्तराखंड14.94%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *