कार्यक्रम के तहत युवाओं के लिए प्रशिक्षण केंद्रों के पंजीकरण की प्रक्रिया 07 जून 2023 को शुरू हो गई है। जो युवा किसी व्यवसाय को सीखने में रुचि रखते हैं वे भी पंजीकरण कर सकते हैं। कार्यक्रम के तहत, मध्य प्रदेश राज्य कौशल विकास और रोजगार सृजन बोर्ड (एमपीएसएसडीईजीबी) राज्य व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद (एससीवीटी) द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रमों में भाग लेने के लिए युवाओं का चयन करेगा। इन युवाओं को छात्र-उम्मीदवार के रूप में पंजीकृत किया जाएगा। पाठ्यक्रमों की सूची कार्यक्रम की वेबसाइट पर देखी जा सकती है। MPSSDEGB आवश्यकतानुसार पाठ्यक्रमों में आवश्यक परिवर्तन कर सकता है। प्रत्येक पाठ्यक्रम में न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता और अवधि के लिए विशिष्ट आवश्यकताएं होंगी।

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई थी। सीखो कमाओ योजना राज्य के उन युवाओं के लिए है जो पैसा कमाना चाहते हैं। मुख्यमंत्री कमाओ योजना के तहत पात्र युवा आवेदन कर सकते हैं और 8,000 रुपये से 10,000 रुपये तक का वजीफा कमा सकते हैं। सीखो कमाओ योजना में युवाओं को शिक्षा के विभिन्न क्षेत्रों से प्रशिक्षण मिलेगा। मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के तहत दिए गए ऑन-जॉब प्रशिक्षण को पूरा करने के बाद लोगों को लाभ मिलेगा। योजना के लिए आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन शुरू हो गया है। नीचे दिए गए लेख से पंजीकरण तिथियां, आवेदन कैसे करें, अंतिम तिथि, पात्रता मानदंड, वजीफा राशि आदि की जांच करें।


योजना के बारे में

पंजीयन:

युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान करने वाले प्रतिष्ठानों के पंजीयन के साथ ही, “सीखो कमाओ योजना” के अंतर्गत इस नई पहल का शुभारंभ होने से युवाओं को नई संधि और अवसरों का सामना करने का और भी मजबूत अवसर मिलेगा। यह प्रोग्राम मध्य प्रदेश सरकार के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है जो नौजवानों के जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने और उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में समृद्धि के रास्ते पर अग्रसर करने के लिए उद्दीपना प्रदान करेगा।

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से, युवाओं को उच्च-स्तरीय प्रशिक्षण विधियों और तकनीकों से अवगत कराया जाएगा, जो उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में स्वयं को समर्थ बनाने और रोजगार के माध्यम से स्वावलंबी बनाने में सहायता करेगा। यह योजना युवाओं को विभिन्न उद्योगों में अपने कौशल को समृद्धि पूर्वक लागू करने के लिए समर्थ बनाने के साथ-साथ स्वरोजगार के अवसरों की खोज और स्थापना करने में भी सहायता करेगा।

यह योजना स्त्री युवाओं, अल्पसंख्यक समुदायों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए भी विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, जो उच्च शिक्षा और प्रशिक्षण के अवसरों के लिए सामान्यतः प्रतिबंधित रहते हैं। इसके माध्यम से, उन्हें भी अच्छे जीविका के अवसर मिलेंगे और वे भी अपने सपनों को पूरा करने का मौका पाएंगे।

युवाओं को प्रशिक्षण का आयोजन करके मध्य प्रदेश सरकार समाज के आर्थिक विकास और वृद्धि की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास कर रही है, जो राज्य को सक्षम, समृद्ध और समर्थ बनाने में मदद करेगा। इससे युवाओं के जीवन का समृद्धिकरण होगा और राज्य को तकनीकी, व्यावसायिक और व्यापारिक क्षेत्र में एक मजबूत मानचित्र मिलेगा।

प्रशिक्षण:

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना एक अधिकारी योजना है, जिसका उद्देश्य मध्य प्रदेश राज्य के युवाओं को रोजगार से जुड़े कुशल बनाना और उन्हें आत्मनिर्भरता के मार्ग पर अग्रसर करना है। यह योजना समृद्धि और विकास के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है जो राज्य के युवाओं को नए और उन्नत विकास के अवसर प्रदान करने का लक्ष्य रखती है।

योजना के अंतर्गत, युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण और सूक्ष्म उद्यमिता के लिए समर्थन प्रदान किया जाता है। इससे उन्हें समृद्धि और आर्थिक स्थिरता के लिए तैयार किया जाता है ताकि वे अपने रोजगार के स्वप्नों को साकार कर सकें।

इस योजना में युवाओं को विभिन्न सेक्टरों में प्रशिक्षण दिया जाता है जैसे कि उद्योग, खाद्य प्रसंस्करण, सौंदर्य और स्वास्थ्य सेवाएं, आधुनिक तकनीक, कृषि, वित्तीय सेवाएं, और अन्य उद्योग जो विभिन्न कौशल और नौकरी के अवसर प्रदान करते हैं।

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के तहत युवाओं को प्रशिक्षण देने वाले प्रतिष्ठानों को भी समर्थन प्रदान किया जाता है। इससे वे अधिक विकसित और तकनीकी शिक्षा देने में सक्षम होते हैं और युवाओं को आधुनिक रोजगार के लिए तैयार करने में मदद करते हैं।

इस योजना के माध्यम से, मध्य प्रदेश सरकार ने अधिक से अधिक युवाओं को उच्चतर शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया है और उन्हें उनके रोजगार के क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने में सहायता की है। इससे राज्य की आर्थिक स्थिति में सुधार होता है और युवा बेरोजगारी की समस्या को कम करने में मदद मिलती है।

पंजीयन प्रक्रिया

योजना हेतु आवेदन पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन भरे जा सकेंगे। इस हेतु निम्‍नानुसार प्रक्रिया निर्धारित की जाती है

अभ्‍यर्थी पंजीयन (Candidate Registration):

  1. MMSKY पोर्टल पर अभ्यर्थी पंजीयन पर क्लिक करे ।
  2. आवश्यक निर्देश एवं पात्रता से सबंधित दस्ताबेजो को ध्यान से पढ़े ।
  3. यदि आप पात्रता पात्र अभ्यर्थी है तो अपना समग्र आईडी दर्ज करे ।
  4. समग्र आईडी में पंजीकृत मोबाइल नं. पर भेजे गये OTP से मोबाइल नं. सत्यापित करे ।
  5. आपकी समग्र से जानकारी स्वतः ही प्रदर्शित की जाएगी आपके द्वारा एप्लीकेशन सबमिट किये जाने पर आपको SMS से यूजरनाम एवं पासवर्ड प्राप्त होगा, एवं आपको स्वतः ही लॉग इन करवाया जायेगा ।
  6. अपनी शैक्षणिक योग्यता दर्ज करे एवं सम्बंधित दस्तावेजों को संलग्न करे ।
  7. आपको शैक्षणिक योग्यता के अनुसार कोर्स प्रदर्शित होंगे उनमे से आप कोई कोर्स को चुन सकते है ।
  8. अभ्यर्थी जहां ट्रेनिंग करने को तैयार है वह स्थान चुन सकता है ।

प्रतिष्ठान पंजीयन(Institute Registration):

  1. MMSKY पोर्टल पर संस्था पंजीयन पर क्लिक करे ।
  2. अधिकृत व्यक्ति की जानकारी दर्ज करे ।
  3. स्व घोषणा के बाद GSTIN दर्ज करे ।
  4. अनिवार्य जानकारी को दर्ज करे ।
  5. एप्लीकेशन सबमिट करे ।
  6. यूजर आईडी एवं पासवर्ड पंजीकृत मोबाइल नं. पर प्राप्त होगा ।
  7. प्राप्त हुए यूजर आईडी एवं पासवर्ड के द्वारा संस्था लॉग इन कर सकेंगे ।
  8. संस्था की बेसिक जानकारी दर्ज करे ।
  9. EPF No. (यदि हो तो) के द्वारा कुल कर्मचारियो कि संख्या दर्ज करे ।
  10. Subcontractor की जानकारी दर्ज करे (यदि applicable हो)

योग्यता

अभ्‍यर्थी योग्यता(Candidate Qualification)

  • जिनकी आयु 18 से 29 वर्ष तक हो।
  • जो मध्यप्रदेश के स्थानीय निवासी हों।
  • जिनकी शैक्षणिक योग्यता 12वीं/आईटीआई उत्तीर्ण या उससे उच्च हो।

प्रतिष्ठान योग्यता(Institute Qualification)

  • प्रदेश के ऐसे औद्योगिक एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान, जिनके पास PAN और GST पंजीयन है।
  • यह योजना समस्‍त श्रेणी के निजी प्रतिष्ठानों पर लागू होगी, यथा- प्रोपराइटरशिप, एचयूएफ, कंपनी, पार्टनरशिप, ट्रस्ट, समिति, आदि।

आधिकारिक महत्वपूर्ण लिंक

  1. mmsky.mp.gov.in
  2. https://ssdm.mp.gov.in/

महत्वपूर्ण तिथियाँ – “सीखो कमाओ योजना”

कार्यक्रमतिथि
एमएमएसकेवाई का पंजीकरणJune 07, 2023
आवेदन प्रारंभ होने की तिथिJuly 15, 2023
अनुबंध पर हस्ताक्षर (ऑनलाइन)July 31, 2023
प्रशिक्षण आरंभ तिथिAugust 01, 2023
वजीफा वितरणSeptember 1, 2023

मुख्यमंत्री ने मध्य प्रदेश में ‘सीखो कमाओ योजना’ की शुरुआत की है – Stipend

शैक्षणिक योग्यतावजीफा राशि
12वीं उत्तीर्ण युवाRs. 8000/-
आईटीआई उत्तीर्ण युवाRs. 8500/-
डिप्लोमा उत्तीर्ण युवाRs. 9000/-
स्नातक पास युवाRs. 10000/-
उच्च शैक्षणिक योग्यता युवाRs. 10000/-

योजना सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल

योजना सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल

  • मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना (MMSKY) क्या है?मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना (MMSKY), मध्यप्रदेश शासन की उद्योग-उन्मुख प्रशिक्षण योजना है, जिसके माध्यम से व्यापक स्तर पर औपचारिक शिक्षा प्राप्त युवाओं को पोर्टल पर पंजीकृत प्रतिष्ठानों में छात्र-प्रशिक्षणार्थी के रूप में On-the-Job-Training (OJT) की सुविधा दी जाएगी।
  •  पंजीयन किस पोर्टल पर कर सकते है?पंजीयन योजना के पोर्टल https://mmsky.mp.gov.in/ पर कर सकते है।
  •  क्या पोर्टल पर पंजीयन के लिए कोई शुल्क देय होगा?पोर्टल पर पंजीयन नि:शुल्क है। सीएससी (CSC) अथवा एमपी ऑनलाइन (MP Online) के माध्यम से पंजीयन करने पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा निर्धारित सेवा शुल्क देय होगा।
  •  पोर्टल पर पंजीयन उपरान्त लॉगिन आईडी एवं पासवर्ड कैसे प्राप्त होगा?पंजीयन उपरान्त लॉगिन आईडी एवं पासवर्ड SMS एवं E-mail द्वारा प्राप्त होगा।
  •  पंजीयन के समय किसी समस्या/संशय समाधान हेतु कहाँ संपर्क किया जा सकता है?पंजीयन के समय किसी समस्या/संशय समाधान हेतु पोर्टल पर दिए हेल्प डेस्क पर संपर्क किया जा सकता है।

प्रतिष्ठान सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल

  •  MMSKY योजना में किस प्रकार के प्रतिष्ठान पात्र होंगे?देश/प्रदेश के ऐसे औद्योगिक एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान, जिनके पास PAN और GST पंजीयन है। समस्‍त प्रकार के निजी प्रतिष्ठान यथा- प्रोपराइटरशिप, एचयूएफ, कंपनी, पार्टनरशिप, ट्रस्ट, समिति, आदि योजना अंतर्गत पात्र होंगे।
  •  पोर्टल पर प्रतिष्ठान पंजीयन करते समय किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी?पोर्टल पर प्रतिष्ठान पंजीयन करते समय निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी-
    i. प्रतिष्ठान का GSTIN,
    ii. प्रतिष्ठान का EPFO (यदि कार्यबल 20 या 20 से अधिक हो तो)
  •  पंजीयन हेतु प्रतिष्ठान की न्यूनतम कार्यबल संख्या कितनी होनी चाहिए?चार (04)
  •  प्रतिष्ठान अपने कार्यबल का कितने प्रतिशत छात्र-प्रशिक्षणार्थी संलग्न कर सकते है?प्रतिष्ठान अपने कुल कार्यबल, जिसमें नियमित व संविदात्मक कर्मचारी शामिल होंगे, का 15% की संख्या तक छात्र-प्रशिक्षणार्थियों को संलग्न कर सकते है।
  •  प्रतिष्ठान के कुल कार्यबल की गणना किस आधार पर की जाएगी?प्रतिष्ठान के कुल कार्यबल की गणन नियमित एवं संविदात्मक कर्मचारी को शामिल करके की जाएगी।
  •  क्या अन्य प्रदेश/केंद्र शासित प्रदेश में स्थित निजी प्रतिष्ठान योजना हेतु पात्र है?हाँ, अन्य प्रदेश/केंद्र शासित प्रदेश में स्थित निजी प्रतिष्ठान योजना हेतु पात्र है।

छात्र-प्रशिक्षणार्थी सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल

  •  प्रशिक्षण की अवधि कितनी निर्धारित है?सामान्यतः 1 वर्ष (कुछ कोर्स की प्रशिक्षण अवधि 6 एवं 9 माह भी है)।
  •  योजना के तहत चयनित युवा को क्या कहा जाएगा?योजना के तहत चयनित युवा को “छात्र-प्रशिक्षणार्थी” कहा जाएगा।
  •  पंजीयन हेतु छात्र-प्रशिक्षणार्थी की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता क्या है?पंजीयन हेतु छात्र-प्रशिक्षणार्थी की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 12वीं अथवा आई॰टी॰आई॰ उत्तीर्ण है।
  •  पंजीयन हेतु छात्र-प्रशिक्षणार्थी की आयु सीमा एवं आयु के गणना की निर्धारण तिथि क्या है?पंजीयन हेतु छात्र-प्रशिक्षणार्थी की आयु सीमा 18 से 29 वर्ष है एवं आयु की गणना 01 जुलाई 2023 से की जाएगी।
  •  क्या योजना का लाभ लेने के लिए छात्र-प्रशिक्षणार्थी को मध्यप्रदेश का स्थानीय निवासी होना अनिवार्य है?हाँ, योजना का लाभ लेने के लिए छात्र-प्रशिक्षणार्थी को मध्यप्रदेश का स्थानीय निवासी होना अनिवार्य है।

स्टाइपेण्ड सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल(Stipend FAQs)

  •  छात्र-प्रशिक्षणार्थी को प्रशिक्षण के दौरान कुल कितना स्टाइपेण्ड प्राप्त होगा?छात्र-प्रशिक्षणार्थी को प्रशिक्षण के दौरान रु 8000 से 10000 तक स्टाइपेण्ड प्राप्त होगा।
  •  छात्र-प्रशिक्षणार्थी के स्टाइपेण्ड का निर्धारण किस आधार पर किया जाएगा?छात्र-प्रशिक्षणार्थी का स्टाइपेण्ड कोर्स की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के आधार पर किया जाएगा।
  •  मध्यप्रदेश शासन द्वारा छात्र-प्रशिक्षणार्थी को स्टाइपेण्ड का कितना प्रतिशत भुगतान किया जाएगा?मध्यप्रदेश शासन द्वारा छात्र-प्रशिक्षणार्थी को कोर्स की योग्यता अनुसार निर्धारित स्टाइपेण्ड का 75 प्रतिशत Direct Benefit Transfer (DBT) के माध्यम से भुगतान किया जायेगा।
  •  प्रतिष्ठान द्वारा छात्र-प्रशिक्षणार्थी को स्टाइपेण्ड का कितना प्रतिशत भुगतान किया जाएगा?प्रतिष्ठान द्वारा छात्र-प्रशिक्षणार्थी को कोर्स की योग्यता अनुसार निर्धारित स्टाइपेण्ड का न्यूनतम 25 प्रतिशत भुगतान किया जायेगा।
  •  क्या प्रतिष्ठान छात्र-प्रशिक्षणार्थी को कुल स्टाइपेण्ड के 25 प्रतिशत राशि से अधिक भुगतान कर सकते है?हाँ, प्रतिष्ठान छात्र-प्रशिक्षणार्थी को स्टाइपेण्ड के 25% राशि से अधिक राशि का भुगतान कर सकते है।

सामान्य प्रश्न

  •  क्या प्रतिष्ठान प्रशिक्षण उपरान्त छात्र-प्रशिक्षणार्थी को नियमित रोजगार दे सकते है?हाँ, प्रतिष्ठान प्रशिक्षण उपरान्त छात्र-प्रशिक्षणार्थी को नियमित रोजगार दे सकते है।
  •  क्या प्रतिष्ठान प्रशिक्षण उपरान्त छात्र-प्रशिक्षणार्थी को नियमित रोजगार देने हेतु बाध्य है?नहीं, प्रतिष्ठान प्रशिक्षण उपरान्त छात्र-प्रशिक्षणार्थी को नियमित रोजगार देने हेतु बाध्य नहीं है।
  •  क्या प्रतिष्ठान द्वारा छात्र-प्रशिक्षणार्थी को On-the-Job-Training (OJT) के दौरान आवास एवं भोजन की सुविधा प्रदान करना अनिवार्य है?नहीं, प्रतिष्ठान द्वारा छात्र-प्रशिक्षणार्थी को On-the-Job-Training (OJT) के दौरान आवास एवं भोजन की सुविधा प्रदान करना अनिवार्य नहीं है। प्रतिष्ठान अपनी स्वेच्छा से छात्र-प्रशिक्षणार्थी को आवास, भोजन एवं अन्य सुविधाएँ दे सकते है।
  •  क्या छात्र-प्रशिक्षणार्थी अप्रेन्टिसशिप ट्रेनिंग (NAPS) के साथ-साथ मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना (MMSKY) मे On-the-Job-Training (OJT) कर सकते है?नहीं, छात्र-प्रशिक्षणार्थी अप्रेन्टिसशिप ट्रेनिंग (NAPS) के साथ-साथ मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना (MMSKY) मे On-the-Job-Training (OJT) नहीं कर सकते है।
  •  क्या छात्र-प्रशिक्षणार्थी को प्रशिक्षण उपरान्त कोई प्रमाण-पत्र प्रदाय किया जाएगा?हाँ, सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण होने एवं निर्धारित मूल्यांकन उपरान्त मध्यप्रदेश राज्य कौशल विकास एवं रोजगार निर्माण बोर्ड (MPSSDEGB) द्वारा State Council for Vocational Training (SCVT) का प्रमाण-पत्र प्रदाय किया जाएगा।

अस्वीकरण: इस लेख में साझा की गई जानकारी विभिन्न समाचार वेबसाइटों से है। और हम आपके साथ किसी भी प्रकार की त्रुटि या तीसरे पक्ष की धोखाधड़ी के लिए ज़िम्मेदार नहीं हैं। अपनी जानकारी किसी भी अनधिकृत वेबसाइट या फर्जी वेबसाइट के साथ साझा न करें जो जो आपको नौकरी दिलाने का वादा कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *